गूगल प्लेस्टोर पर रोज़ हज़ारों एंड्राइड एप्प्स अपलोड किये जाते है और इस बात का पता लगा पाना कि कौन सी एप्प सही और कौन सी फ़र्ज़ी बहुत ही मुश्किल काम है। गूगल हमेशा प्लेस्टोर से ऐसे एप्प्स हटा देता है जो उसकी पॉलिसी को नहीं मानते है, हाल ही में गूगल ने प्लेस्टोर से एक “अपडेट्स फॉर सैमसंग” नाम के एप्प को हटाया है जो उपयोगकर्ताओं को एंड्राइड के सभी नवीनतम अपडेट्स देने का दावा कर रहा था।Sony ने अपने PlayStation की कीमतों में कटौती करते हुए, अब स्ट्रीमिंग गेम सेवाओं को आधा कर दिया है!

 

गूगल द्वारा सोमवार को जारी किये गए बयान में कहा गया कि – “हमारा मकसद हमेशा हमारे उपभोक्तओं को सुरक्षित एप्प्स प्रदान करना है, हमारे द्वारा बनाई गई गूगल डेवलपर पॉलिसी में हमने किसी भी तरह के भ्रामक, दुर्भावनापूर्ण और हमारे उपभोक्ताओं के व्यक्तिगत डाटा को नुकसान पहुँचाने वाले एप्प्स को प्रतिबंधित किया है और अगर हमारे द्वारा ऐसा कोई भी एप्प प्लेस्टोर पर पाया गया तो हम उसके ख़िलाफ़ सख़्त कार्यवाही करेंगे”।इंस्टाग्राम अब धमकी भरी या उकसाने वाली पोस्ट सुनिश्चित करने के पहले पूछेगा कि “क्या आप इसे पोस्ट करना चाहते है?”!

 

 

दूसरी तरफ एप्प डेवेलपर्स ने यह दावा किया कि हमारा इस एप्प को बनाने के पीछे मकसद स्मार्टफोन में मौजूद फर्मवेयर सर्विस ऑप्शन और गूगल के अलावा अन्य भुगतान के तरीकों को हटाना है। हमारे एप्प से उपभोक्ताओं को काफी सुविधाएँ मिली है और उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ है।Google को Android फोन में मिली Zero-Day की कमजोरी जो पिक्सेल, श्याओमी, सैमसंग, हुवावे और अन्य स्मार्टफोन को प्रभावित कर रहा है!

 

CSIS सिक्योरिटी ग्रुप की रिपोर्ट्स के अनुसार इस एप्प को दुनियाभर में करोड़ो लोगों ने गूगल प्लेस्टोर से इनस्टॉल किया है, इसके अलावा रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया कि यह एप्प कोई भी सामग्री फ्री में डाउनलोड करने देती है जिसकी स्पीड लिमिट सिर्फ 56 kbps तक सिमित है तो अगर किसी को 500 एमबी की फाइल डाउनलोड करना है तो उसे लगभग 4 घंटे का समय लगेगा। CSIS ने यह भी कहा कि यह फ़र्ज़ी एप्प 19.9 डॉलर में जाली तरीके से सिम अनलॉक करने की पेशकश भी करता था।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here